June 10, 2021

अमेठी:पति के लम्बी उम्र के लिये सुहागिन महिलाओं ने की बट पूजा

तिलोई शाहमऊ : देखा जाये तो पूरे भारत की सुगागिन महिलाऐ अपने पति के लम्बी उम्र के लिए बट बरगद के वृछ का पूजा अर्चना सदियों से करती चली आ रही है। रिमझिम खुश मिजाज मौसम के बीच महिलाओं ने बडे उत्साह के साथ सुबह से ही बट के पेडो के परिक्रमा के साथ पूजा अर्चना करते नजर आ रही है ।

शाहमऊ आबादी कोट राज परिवार से पूरे ग्राम सभा के लिये कई बडी ऐसी हस्तिया मिली है। जो छेत्र के लिये वरदान साबित है। जैसे अति पावन पवित्र प्रसिद्ध मन्दिर मा अष्टभुजा राज घराने के गेट पर ही स्थिति पावन पवित्र मान्दिर मां अष्टभुजा देवी कष्ट निवरण की विशेषता ही अनोखी राज महल प्रयंग्ण मे ही बट यानी बरगद का पेड कई सौ वर्ष पुराना इतिहासिक किताबो मे अपना नाम भी दर्ज करा चुका ये वृछ विशाल लम्बी लम्बी जटाओ से अति पुराने पेड का अलग की नजारा है। लोगो के के मुताबिक इसी पेड के नीचे गोसाई बाबा की पवित्र समाधि जो की लोगो के मुताबिक गोसाई बाबा सैकडो वर्ष पहले इसी बृछ के नीचे बहुत दिनो तक तपस्या भी किया। और समाधि लिया। जहा पर शाम सुबह भक्त गण मां के दर्शन के उपरांत गोसाई बाबा का दर्शन करना अनिवार्य मानते है।वही पर मां अष्टभुजा देवी मन्दिर स्थित बरदद के पेड पर आज सुहागिन महिलाओं का सुबह से ही पूजा अर्चना के लिये कतारे लगी है।

महिलाओं के मुताबिक साल के जेष्ट माह मे अमावस्या को ही ये व्रत मनाया जाता है।जो की पूर्व मे सती सबित्री ने अपनी पति की लम्बी उम्र के कामना के लिये ये व्रत किया था। तभी से सुगागिन महिला उस परम्परा धरोहर को सम्भालते चली आ रही है। जो की पूरे भारत की महिला इस बट के पूजन को बडे ही उत्साह से मनाती चली आ रही है।

संवाददाता शैलेश नीलू की खास रिपोर्ट

You may also like...