November 13, 2021

अमेठी: राजीव शुक्ला का जनसंपर्क भर रहा युवाओं में जोश





अमेठी: भाजपा नेता मुसाफिरखाना मंडल अध्यक्ष राजीव शुक्ला का लगातार जन संपर्क युवाओं में जोश भर रहा है हम बात कर रहे हैं भाजपा के युवा नेता राजीव शुक्ला की जिनका नाम भाजपा के कट्टर समर्थकों में गिना जाता है जब भाजपा की सरकार बनने से पहले राजीव शुक्ला का नाम तब लिया जाता था जब कोई भाजपा का झंडा भाजपा समर्थकों के अलावा कोई लेने को तैयार नहीं था यह नाम भाजपा के कद्दावर नेता एमएलसी गोविंद नारायण दयाशंकर यादव उमा शंकर पांडे अरुण मिश्रा के साथ ही राजीव शुक्ला का नाम भी जोड़ा जाता था राजनीतिक पकड़ की बात करें तो भाजपा के बड़े-बड़े नेताओं से साथ ही संघ के साथ भी राजीव शुक्ला के बहुत अच्छे संबंध हैं अमेठी जिले के गठन के पूर्व राजू शुक्ला सुलतानपुर जिले के युवा मोर्चा के जिला उपाध्यक्ष थे जब अमेठी जिले का गठन हुआ तो उनकी कार्यशैली को देखते हुए पार्टी ने इन्हें जिला मोर्चा का अध्यक्ष बनाया लेकिन इनकी शालीनता और विनम्रता इन को पीछे धकेलती गई वर्ष 2014 लोकसभा चुनाव में अमेठी लोकसभा के लिए जब स्मृति ईरानी को प्रत्याशी बनाया गया तो दीदी जिंदाबाद का नारा बुलंद करने वाले राजीव शुक्ला सबसे आगे रहते थे इनकी कार्यशैली की वजह से सब के लोकप्रिय भी हैं खासतौर से युवाओं में भी इनकी अच्छी खासी पकड़ है दीपोत्सव पर्व का कार्यक्रम करने के उपरांत राजीव शुक्ला ने क्षेत्र में भाजपा कार्यकर्ताओं बूथ स्तर के लोगों से मिलकर उन्हें दीपावली की मिठाई और साल भेंट कर रहे हैं यह कार्यक्रम दीपावली से निरंतर जारी है जिसे लेकर क्षेत्र में चर्चाओं का बाजार गर्म है जब राजीव शुक्ला से हमारे टीम ने संपर्क किया तो उन्होंने बताया कि बूथ स्तर पर पहुंचकर उनका हौसला बढ़ाना हमारा कर्तव्य है बूथ स्तर के कार्यकर्ता ही चुनाव की पहली सीढ़ी है जो पार्टी के लिए संघर्षरत रहते हैं और इन्हें सिर्फ चुनाव नजदीक आते ही याद किया जाता है लेकिन दीदी हमेशा बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं से भी उनके सुख दुख में साथ खड़ी रहती है इसलिए जब इतने व्यस्तता के बावजूद दीदी सब से जुड़ी रहती है तो हम सबका दायित्व है कि हम जिस लायक हैं उस लायक अपने बूथ कार्यकर्ताओं की हर संभव मदद करें जब हमारे रिपोर्टर ने चुनाव के संबंध में बात की कि क्या आप चुनाव लड़ेंगे तब राजीव शुक्ला ने कहा कि यह पार्टी नेतृत्व तय करता है कि कौन चुनाव लड़ेगा यदि पार्टी मुझ पर विश्वास करती है तो मैं शत-प्रतिशत उस पर खरा उतरूंगा और गौरीगंज विधानसभा से कमल खिला कर पार्टी को मजबूत करूंगा, जब हमारे रिपोर्टर ने पूछा कि आपका नंबर तो नहीं लगता कि आएगा क्योंकि भाजपा में गौरीगंज विधानसभा से तो बहुत से लोग स्वयं को प्रत्याशी घोषित कर चुके हैं इस पर जवाब देते हुए राजीव शुक्ला ने बताया कि यह शीर्ष नेतृत्व का फैसला होता है कि कौन चुनाव लड़ेगा कौन नहीं खुद से प्रत्याशी घोषित करना नहीं चाहिए शीर्ष नेतृत्व के फैसले का आदर करना चाहिए। कुल मिलाकर बात की जाए तो राजीव शुक्ला के जुबान पर सिर्फ दयाशंकर यादव और स्मृति ईरानी ही उनकी आइडियल है और उन्हीं के पद चिन्हों पर चलना ही उनका उद्देश्य है।



,

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *