September 18, 2021

डीएम ने जनपद के जलभराव क्षेत्रों का किया स्थलीय निरीक्षण,

डीएम ने जनपद के जलभराव क्षेत्रों का किया स्थलीय निरीक्षण,

मनीष अवस्थी


अधिकारियों को दिये उचित निर्देश


बरसात व बाढ़ सम्बन्धित सभी व्यवस्थाओं को रखे दुरूस्त: वैभव


बरसात के कारण सड़क पर बड़ा गढ्ढा होने की जानकारी पर डीएम पैदल ही छाता लेकर स्थलीय निरीक्षण किया


नदी के पानी के बहाव पर निरन्तर नजर रखने के साथ ही बाढ़ चैकियां व नावों को रखे अलर्ट: डीएम


रायबरेली। जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने बरसात को देखते हुए शक्ति नगर, एफसीआई गोदाम, विजय नगर, आईटीआई मार्ग आदि क्षेत्रों का औचक निरीक्षण किया व निर्देश दिये कि क्षेत्रों में कही जलभराव की समस्याओं हो तो तत्काल ठीक कराये तथा सड़क के किनारे टूटी फूटी नालियों व नाला को ठीक कराये के साथ ही सड़कों पर गढ्ढे होने के कारण बरसात में जलभराव होने से दुर्घटना की सम्भावना उत्पन्न होती है। सड़कों को गढ्ढा मुक्त किया जाए। उन्होंने नगर में नाला नालियों में कही पर कुड़ा कचरा आदि न जमा होने दे इसके अलावा क्षेत्रों में कही पर भी जलभराव न हो। इस पर नगर पालिका के ईओं सहित अधिकारियों को इसे पर विशेष ध्यान दे। तालाबों को पूरी तरह से साफ-सुथरा रखने के साथ-साथ जलकुम्भी आदि जमा हो तो या तालाब मिट्टी से पट रहा हो तो साफ-सफाई कराने के साथ गहराई आदि कराकर तालाबों को मूल स्थिति में लाकर उसका सौदर्यकरण कराये। इसी दौरान जिलाधिकारी ने शक्ति नगर के पास एक गाय के अचानक गिर जाने की जानकारी पर तत्काल मुख्यपशु चिकित्साधिकारी डाॅ0 गजेन्द्र सिंह को गाय का ओपचारिक ईलाज कराकर पशु चिकित्सालय में भेजा और कहा कि बरसात के मौसम में सड़कों पर कही पर भी आवारा गौवंश मिलने पर उसे तत्काल गौ आश्रय स्थल पर भेजें। इसके अलावा आईटीआई मार्ग के रास्ते में बरसात के कारण अचानक गड्ढा होने की जानकारी पर डीएम बरसात में छाता लगाकर पैदल ही गड्ढे का स्थलीय निरीक्षण कर पीडल्यूडी के अधिकारियों को गड्ढे को तत्काल दुरूस्त करवाये जाने के दिये निर्देश।
जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने समस्त एसडीएम, तहसीलदार, ईओ नगर पालिका/नगर पंचायत आदि अधिकारियों को निर्देश दिये है कि बरसात के मौसम में नदियों के जल स्तर पर नजर रखने के साथ ही साफ-सफाई, जलभराव/जलजमाव की स्थिति न उत्पन्न होने पाये इस पर विशेष सतर्कता बरते। बरसात को देखते हुए जलभराव, जल जमाव आदि के प्रति सतर्क व संवेदनशील रहकर क्षेत्र का भ्रमण करते हुए आम.जन को राहत दे। मौसम विभाग द्वारा दी जा रही जानकारियों को संज्ञान में लेकर सतर्क व सचेत रहे अपने-अपने क्षेत्रों के जलभराव पर नजर रखे इसके अलावा बाढ़ चौकियों को पूरी तरह से सक्रिय रखें साथ ही क्षेत्र वासियों से कहें कि अनावश्यक रूप से जल भराव पानी, तालाब आदि के पास शेष दूर रहे। गंगा, सई नदी के किनारे अन्य नदी के पानी के बहाव को भी निरंतर नजर रखने के साथ ही बाढ़ चौकियां भी एलर्ट रहे कितनी नाव है इसकी भी पूरी सूची रहे। पीने के पानी की व्यवस्था भी दुरूस्त रहे। आपदा प्रबन्धन पूरी तरह से सक्रिय रहने के साथ ही असामजिक तत्वों अफवाह फैलाने वालो पर भी कड़ी नजर रखी जाये। जलभराव की स्थिति को देखते हुए जलभराव से लोगों को निजात दिलाये। उन्होंने सभी जनपद वासियों से अपील की है कि बरसात को देखते हुए अति आवश्यक कार्य होने पर घर से बाहर निकले, भीड़-भाड़ वाले/ट्रैफिक वाले क्षेत्रों से जाने से बचे, खुले सीवर, बिजली के तार, खम्भो से बचकर रहे, पेड़ों के नीचे शरण न लें। जलभराव, वृक्षापतन इत्यादि हेतु इन्ट्रीग्रेटेड कंट्रोल कमाण्ड सेन्टर के मो0नं0 9454418979, 9454418981, एवं लेण्डलाइन नम्बर 0535-2203320, 0535-22032214 पर एवं इसके अतिरिक्त विद्युत ब्रेकडाउन हेल्पलाइन नम्बर 1912 पर अपनी समस्या दर्ज कराकर शिकायतों का निस्तारण करा सकते है।
इस मौके पर नगर मजिस्ट्रेट युगराज सिंह, नगर पालिका ईओ, डीडी सूचना प्रमोद कुमार, जलनिगम आदि अधिकारी उपस्थित थे।

You may also like...