May 11, 2021

दो जिला पंचायत सदस्यों को दिया गया जीत का प्रमाणपत्र

हाल ही सम्पन्न हुये त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में अजीबो-गरीब मामला सामने आया है। जिसमें एक ही वार्ड में दो जिला पंचायत सदस्यों को निर्वाचन अधिकारी द्वारा विभिन्न तारीखों में जीत का प्रमाण पत्र जारी किया गया। जो बहुत ही चर्चा का विषय बना हुआ है। विदित हो कि त्रिस्तरीय पँचायत चुनाव में वार्ड 28 से समाजवादी पार्टी समर्थित जिला पंचायत सदस्त के उम्मीदवार नीलम यादव व भाजपा समर्थित कृष्णा देवी दोनो प्रत्याशी आमने सामने थे। जिसमें नीलम यादव व कृष्णा देवी पूरे दमखम के साथ चुनाव लड़ी। मतदाताओं ने भी दोनो पर भरपूर भरोसा करते हुये मतदान भी किया। मतगणना के समय निर्वाचन अधिकारी सुनील कुमार रूंगटा ने जीतने के काफी मशक्कत करने के बाद नीलम यादव पत्नी सुनील यादव को 4 मई को जीत का प्रमाण पत्र दिया। कुछ दिन बाद 8 अप्रैल को निर्वाचन अधिकारी द्वारा कृष्णा देवी पत्नी घनश्याम चौरसिया को जीत का प्रमाण पत्र दे दिया गया। यह प्रमाण पत्र किसके आदेश व क्यो निर्गत किया गया। यह सोचनीय व जांच का विषय बना हुआ है। जिससे जिले के साथ प्रदेश के राजनैतिक गलियारे में हलचल मच गयी है। इस मामले को खुद सपा मुखिया ने सोशल मीडिया पर लाकर सरकार की काबिलियत पर सवालिया निशान उठाये। इसके साथ ही कहा की जैसा शासन होगा वैसा ही प्रशासन होगा। जनता इस सरकार को माफ नही करेगी। जिसका बदल 2022 में जनता विधानसभा चुनाव में लेगी। जिले का समाजवादी खेमा भी प्रशासन के इस तानाशाही पूर्ण रवैये से काफी आक्रोशित है।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *