September 9, 2021

बच्चियों के लिए वरदान है डाक विभाग का सुकन्या समृद्धि खाता- डाक अधीक्षक

बच्चियों के लिए वरदान है डाक विभाग का सुकन्या समृद्धि खाता- डाक अधीक्षक

मनीष अवस्थी


रायबरेली में अब तक 52000 से अधिक बेटियों का खुल चुका है सुकन्या खाता


रायबरेली। डाक विभाग के रायबरेली मंडल में सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत 52000 से भी अधिक बच्चियों का सुकन्या समृद्धि खाता खोला जा चुका है, एवं रायबरेली डाक मंडल घर-घर जनसंपर्क करके एवं अस्पतालों में संपर्क करके जन्म होते ही बच्चियों के अभिभावकों को सुकन्या समृद्धि योजना के लाभ के बारे में बता कर खाता खुलवा रहे हैं।

गौरतलब है कि सुकन्या समृद्धि योजना मोदी सरकार द्वारा शुरू की गयी छोटी बचत स्कीम है। ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ अभियान के तहत इसे शुरू किया गया था।यह स्कीम बेटियों की शिक्षा और उनके शादी-ब्याह के लिए रकम जुटाने में मदद करती है।अभी स्कीम के तहत 7.6 फीसदी ब्याज मिलता है।
अधीक्षक डाकघर रायबरेली अशोक बहादुर सिंह ने बताया कि इनकम टैक्स कानून के सेक्शन 80C के तहत सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश करने पर टैक्स छूट भी मिलती है। यानी सालाना 1.5 लाख रुपये के निवेश पर आप टैक्स छूट का फायदा उठा सकते हैं। सुकन्या समृद्धि स्कीम से मिलने वाला रिटर्न भी टैक्स फ्री है। 31 मार्च तक सुकन्या समृद्धि स्कीम में निवेश करने पर आप इस वित्त वर्ष के लिए टैक्स छूट का फायदा उठा सकते हैं।बेटी की उम्र 10 साल होने से पहले कभी भी सुकन्या समृद्धि खाता खुलवाया जा सकता है। सुकन्या समृद्धि खाता 250 रुपये से खुल जाता है।पहले इसके लिए 1,000 रुपये जमा करने पड़ते थे। किसी भी वित्त वर्ष में सुकन्या समृद्धि में अधिकतम 1.5 लाख रुपये जमा किए जा सकते हैं।
किसी भी आय वर्ग के अभिभावकों के लिए अपनी बेटी के सुरक्षित भविष्य के लिए सुकन्या समृद्धि योजना एक वरदान की तरह है।
यह खाता खुलवाने के लिए अभिभावक को नजदीकी डाकघर में बेटी के जन्म प्रमाण पत्र, अभिभावक के आधार, पैन कार्ड एवं दो फोटो के साथ जाना होता है।

You may also like...