August 1, 2021

बाल चित्रकार 6 वर्षीय अंबिकेश त्रिपाठी ने अपनी कला से अंतर्राष्ट्रीय समाजसेवी नफीस अहमद इदरीसी की कलाकृति बनाई…

बाल चित्रकार 6 वर्षीय अंबिकेश त्रिपाठी ने अपनी कला से अंतर्राष्ट्रीय समाजसेवी नफीस अहमद इदरीसी की कलाकृति बनाई…

मनीष अवस्थी


ऊंचाहार रायबरेली। की मिट्टी की खुशबू को सात समंदर पार बिखेर रहे नफीस इदरीशी आज हजारों लोगो का आदर्श बन चुके है । ऊंचाहार के कजियाना गांव से निकलकर अरब देश में अपनी मोहक और बुलंद आवाज के बल पर वहां पर होने वाले सामाजिक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों मैं अपनी समाजसेवी भावना एवं अपने मधुर आवाज से लोगों को समाज सेवा की ओर प्रेरित करने वाले इदरीसी साहब ने भारत सरकार की विभिन्न योजनाओं के प्रचार प्रसार हेतु अपनी आवाज निःशुल्क दी है । वैश्विक महामारी कोविड-19 से बचाव हेतु प्रचार प्रसार के रिकॉर्डिंग उत्तर प्रदेश एवं भारत के कई प्रदेशों में सीएससी अस्पतालों में लगातार बजाई जा रही है विदेश में भारतीय संस्कृति , सभ्यता और सद्भाव के प्रचार , प्रसार में उनका महती योगदान रहा है । हम को गर्व है कि मेरा जन्म भी उसी मिट्टी में हुआ है , जहां नफीस इदरीसी जैसी अजीम सख्सियत जन्म लेती है ।
अंबिकेश त्रिपाठी (ऊंचाहारी)

You may also like...