August 3, 2021

शिक्षिका सहित दर्जनों ग्रामीणों ने लगाई उप जिलाधिकारी से न्याय की गुहार

शिक्षिका सहित दर्जनों ग्रामीणों ने लगाई उप जिलाधिकारी से न्याय की गुहार

संवाददाता दीपचंद मिश्रा

बछरावां रायबरेली: जहां एक ओर सूबे के मुखिया महंत योगी आदित्यनाथ महिलाओं की सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुए थानों में हेल्प डेस्क तथा 1090 बनाकर सुरक्षा को प्राथमिकता देते हैं। वहीं दूसरी ओर बछरावां थाना क्षेत्र अंतर्गत मलिकपुर सरैया में बीते मंगलवार को गांव के ही दबंगों ने शिक्षिका के घर पर ईट पत्थर से हमला कर दिया। जिसमें शिक्षिका की दोनों बेटियां बाल बाल बच गई थी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों पक्षों पर विधिक कार्यवाही की थी। लेकिन अभियोग पंजीकृत नहीं हुआ था। जिससे हमलावरों के हौसले बढ़े हुए हैं, तथा अभद्र टिप्पणी करना बंद नहीं कर रहे हैं। ग्रामीणों ने शिक्षिका सहित उप जिलाधिकारी से न्याय की गुहार लगाते हुए कार्यवाही करने की मांग की है। ग्रामीणों के मुताबिक बीते मंगलवार को गांव के अशोक दीक्षित पुत्र चंद्रनाथ दीक्षित, कृष्ण कुमार पुत्र अशोक दीक्षित, सुखमीलाल पुत्र संत प्रसाद, रमाकांत पुत्र सुखमीलाल, कमलेश पुत्र राजाराम, लव कुश पुत्र वासुदेव, रामसुख पुत्र शिवनारायण, सुदामा पुत्र शिव नारायण, महाराज दीन पुत्र साहब दीन, अवधेश पुत्र गंगा प्रसाद, रामनरेश पुत्र शिवनारायण ने उस वक्त सरला त्रिपाठी के घर पर हमला कर दिया जब वह रोज की तरह विद्यालय चली गई, हमले के साथ-साथ उनकी दीवाल भी गिरा दिया।साथ ही पीड़िता ने बताया कि चुनाव को लेकर बछरावां निवासी विजय पुत्र भानु प्रताप से उसका विवाद चल रहा था। जिसमें विजय द्वारा ही यह ऐलान किया गया था कि तुमको चैन से जीने नहीं देंगे। आगे पीड़िता ने यह भी बताया कि उपरोक्त विजय के संरक्षण में मेरे ऊपर हमला कराया जाता हैं, तथा आए दिन कोई न कोई षड्यंत्र रचा करते हैं। जिससे हमारा व हमारे परिवार का जीना दुश्वार है। इस बाबत उप जिलाधिकारी सविता यादव ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है जांच करके विधिक कार्रवाई की जाएगी।

You may also like...